Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Statue of Liberty History in Hindi | स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी

About Statue of Liberty in Hindi

Statue of Liberty History in hindiStatue of Liberty History in Hindi स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी का इतिहास:
स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी स्वतंत्रता का प्रतीक है. France ने इसको 1886 में America को गिफ्ट में दिया था. यह अमरीका और फ्रांस की दोस्ती का भी प्रतीक है.

स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी की प्रतिमा ताम्बे की बनी हुयी है. यह अमेरिका के न्यूयोर्क शहर में लिबर्टी आइलैंड पर स्थित है. इस प्रतिमा के चारो ओर एक शानदार बगीचा है.

जब अमेरिका अपनी स्वतंत्रता के 100 साल का जश्न मना रहा था, इस जश्न में उसके मित्र देशो ने उसे उपहार में स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी देने की पेशकश की. यह सांकेतिक रूप से आज़ादी के प्रतीक की प्रतिमा थी. कहा जाता है की अमेरिका ने इसे लेने के लिए पूरी तरह से हाँ नहीं कहा था. उस समय इसमें एक लाख डॉलर खर्च आने की सम्भावना थी. फ़्रांस इसको बनाकर अमेरिका को देने वाला था.

स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी का निर्माण

यह फ़्रांस के मूर्तिकार फ्रेडरिक ऑगस्ट बर्थोल्डी ने बनायीं थी. इसको बनाने का काम शुरी करने के बाद बीच में रोक दिया गया था. फिर इसका निर्माण कार्य लम्बे समय तक बंद रहा. जिसकी वजह शायद पैसे की कमी मानी जाती थी. काफी समय तक इस प्रतिमा के अंश यूँ ही पड़े रहे. कुछ अंशों को यहाँ होने वाले मेलों और प्रदर्शनी में रखा जाता था.

इसके बाद न्युयोर्क वर्ल्ड पत्रिका के प्रकाशक जोसेफ पुलित्ज़र ने इस अधूरे निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए एक नयी पहल की. उन्होंने एक सार्वजानिक कोष की स्थापना की और इस कोष में कोई भी व्यक्ति पैसे जमा करवा सकता था. इसमें कुछ ही दिनों में कई लाख डॉलर जमा हो गए. निर्माण कार्य वापस प्रारंभ किया गया उस समय इसके निर्माण में करीब ढाई लाख डॉलर का खर्च आया था.

स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी के हिस्सों को 214 बक्सों में बंदकर जहाज़ में लाया गया था. अमेरिका में इसे बेडलौज़ नाम के एक टापू पर स्थापित किया गया. बाद में इसका नाम बदलकर लिबर्टी आयरलैण्ड रख दिया गया. स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी एक dressed औरत की प्रतिमा है. यह औरत रोमन देवी लिबर्ट्स का प्रतिनिधित्व करती है जो एक हाथ में मशाल और दुसरे हाथ में पुस्तक पकडे हुए है.

कृपया ध्यान दें :

यदि Statue of Liberty History in Hindi article में या इस जानकारी में कुछ mistake लगें तो हमें कमेंट जरूर लिखे हम update रहेंगे.

– आशा है आपको हमारी Information About Statue of Liberty पसंद आई होगी तो आप  Like और Share कर सकते है.

Raj Dixit

दोस्तों मै Hindi-Quotes.in का admin हूँ अगर आपको यह ब्लॉग पसंद आया हो तो फेसबुक पेज LIKE करे और आप comments भी करें. आपका feedback हमारे लिए बहुत आवश्यक है. Thanks Raj Dixit G+: https://goo.gl/bco7ez

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *