Sakshi Malik Biography in Hindi | साक्षी मलिक Wiki & Jivni

Sakshi Malik Wrestler Biography & Wiki

साक्षी मलिक की जीवनी | Sakshi Malik Wiki in Hindi

साक्षी मलिक (Sakshi Malik) ने भारत को इस साल के रियो ओलंपिक्स 2016 में पहला मैडल जीताया । उनके मैडल जीतने के बाद वीरेंदर सेवग ने तक उनको बधाई दी । वे पहली महिला बानी जिसने भारत से रेसलिंग की दुनिया में एक मैडल जीता हो वो भी जब इससे एक पुरुष बोलबाला खेल समझ जाता है ।

निजी ज़िन्दगी की एक झलक – Sakshi Malik Biography in Hindi & Personal Life

Sakshi Malik Jivni:
साक्षी मलिक Sakshi Malik का जनम 3 सितम्बर 1992 में हुआ था । वे हरयाणा के रोहतक नमक जिला के रोहतक गाँव में रहती है। वे भारतीय फ्रीस्टाइल रेसलर है। उनके पिताजी का नाम सुदेश मलिक ओर माता का नाम सुदेश मलिक है । उनके पिताजी दिल्ही ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन में एक बस कंडक्टर हैं ओर उनकी माता स्थानीय स्वस्थ्य केंद्र में पर्यवेक्षक हैं । उनके पिताजी का कहना है की साक्षी बचपन में अपने दादा बदलू राम से प्रभावित हो कर कुश्ती के मैदान में उतरी । उनके दादा भी स्वयं एक एक पहलवान थे । साक्षी ने अपनी प्रशिक्षण 12 साल की उम्र से कोच ईश्वर दहिया के साथ छोटू राम स्टेडियम , रोहतक के एक अखाड़े से शुरू की । साक्षी और उनके कोच को लोगो का विराध सहना पड़ा क्योंमकि लोगों को ये खेल लड़कियों के लिए ठीक नई लगता था॥

Sakshi Malik Rio ओलंपिक्स 2016 की एक झलक

साक्षी मालिक 2016 रियो (Sakshi Malik Rio) ओलंपिक्स के लिए चीन के जहांग लें को सेमि – फाइनल में 58 कैग के वर्ग में ओलिंपिक वर्ल्ड क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में, 2016 मई में हुई थी । ओलिंपिक में वे 32 बाउट राउंड में स्वीडन के जोहन्ना मत्तस्यों और 16 बाउट राउंड माल्डोवा के मारियाना शेरदीवार से जीती। रूस के वलेरिया कोबलोवा से क्वार्टर – फाइनल में हार कर , वे रेपेचेज राउंड के लिए क्वालीफाई हुई जिसमे साक्षी ने मंगोलिया के पुरवडोरजीन रखों को प्रथम बाउट में हराया । साक्षी 8-5 से कयरञ्ज़स्तान के जैसलू त्य्न्य्बेकोव से जीत कर ब्रोंज मैडल हासिल किया । एक स्तर पर 0-5 होने के बावजूद भी वे अपने अटूट विस्वास और म्हणत से मैडल हासिल किया ॥

Sakshi Malik’s Wrestling Career साक्षी मलिक की व्यवसाय की झलक

साक्षी को रेसलिंग Sakshi Malik Wrestler की दुनिया में अंतराष्ट्रीय स्तर पे पहली सफलता 2010 में प्राप्त हुई जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप्स में मिली, जिसमे उन्होंने 58 किलोग्राम फ्रीस्टाइल रेसलिंग इवेंट में ब्रोंज मैडल जीता था । उसके पश्चात 2014 में हुए दावे सचूल्ट्ज़ इंटरनेशनल टूर्नामेंट में उन्होंने 60 किलोग्राम फ्रीस्टाइल इवेंट में गोल्ड मैडल जीता था । साक्षी का अभियान 2014 ग्लासगो में हुए कामनवेल्थ गेम्स से हुआ था जिसमे उन्होंने क़ुरतेरफीनाल में कैमरों के एडवीज नगोङो एईए से 4-0 से जीता था । पहर उसी प्रतियोगिता के सेमि – फाइनल में साक्षी नै कनाडा के ब्रेक्सटन स्टोन को 3-1 से हरा कर मैडल जीत कर विजय प्राप्त की । फाइनल में उनके प्रतिद्वंद्वी नाइजीरिया के अमिनट अदेनियी थे जिसने साक्षी को 4-0 से हरा दिया था । ताशकेंट में हुए 2014 वर्ल्ड चैंपियनशिप्स में उनका मुकाबला सेनेगल के अंत संबौ से हुआ जिसको हरा कर वे अगले राउंड के लिए क्वालीफाई हुई । पर अगले राउंड में जाकर वे फ़िनलैंड के पत्र ओली से 1-3 से हार कर टूर्नामेंट से बहार हो गयी । 2015 में दोहा, कातर में हुए एशियाई चैंपियनशिप्स में 5 राउंड में से साक्षी ने 60 किलोग्राम के 2 राउंड ख़तम कर तीसरे स्तर पे ब्रोंज मैडल प्राप्त किया । पहले राउंड में उनका मुकाबला चीन इ लुओ सियाओजुन से हुआ जिसमे वे उनसे 4 – 5 से हार गयी थी । पर उन्होंने मजबूत वापसी के साथ दूसरे राउंड में मंगोलिया के तुंगलाग को 13 – 0 से हरा दिया । तीसरे राउंड में जाकर वे जापान के योशिमी कायम से हार गयी । कजाखस्तान के अयालयम कॉसिमोव से चौथे राउंड के मुकाबले में साक्षी उनको हरा कर ब्रोंज मैडल जीती ॥

एक झलक उनके मैडल की टोकरी के ओर | Sakshi Malik Awards & Medals

58 किलोग्राम वर्ग में –
• रियो ओलंपिक्स 2016 – ब्रोंज मैडल
• ग्लासगो कामनवेल्थ गेम्स 2014 – सिल्वर मैडल

60 किलोग्राम के वर्ग में –
• दोहा एशियाई चैंपियनशिप्स 2015 – ब्रोंज मैडल
• जोहानसबर्ग कामनवेल्थ चैंपियनशिप 2013 – ब्रोंज मैडल

ओलंपिक्स में ब्रोंज मैडल जितने के बाद मिलने वाले पुरुस्कार और इनाम – Other Recognitions

• राजीव गाँधी खेल रत्न ( 2016 )
• भारतीय रेलवेज में पदोन्नति और 50 लाख रूपये
• हरयाणा सरकार की ओर से 2.5 करोड़ रूपये

और अन्य राज्य सरकार ओर विभिन्न संस्थाओं ने कुल मिला कर तक़रीबन 5 करोड़ रूपये साक्षी मालिक को इनाम के तौर पर दिए ।

Read More Biographies: PV Sindhu Biography in Hindi
Sunil Dutt Biography in Hindi

साक्षी के शादी के ख़याल

साक्षी ने अलिम्पिक्स में मेडल जितने के बाद हाल ही में अपने शादी करने के विचार को बयान किया था । उन्होंने बताया कि वो जल्द ही एक पहलवान से शादी करेंगी , वी भी इसी साल । पर उन्होनो उनका नाम बताने से इंकार कर दिया । इस बात ने कितने नोजवानो के सपनो को तोड़ा ये टॉ शायद ही कोई बता सकता है । साक्षी ने ये भी बताया कि उनके होने वाले पती बड़े ही सहयोगी हैं और उनके सपने को अपने सपने के तरह ही देखते है ।उन्हें इस बात का गर्व से ज़्यादा नाज़ है की उन्होंने अपने क्रिटिक्स को ग़लत ठहरा के अपने कड़ी मेहनत और अभ्यास से रीओ अलिम्पिक्स 2016 में ब्रॉंज़ मेडल जीता ।

साक्षी मलिक के सोशल मीडिया फोल्लोविंग की एक झलक – Sakshi Malik Facebook & Twitter

बाकि सब खिलाडियों की तरह साक्षी मलिक भी सोशल मीडिया में हैं । Twitter , Facebook , और अन्य सोशल मीडिया साइट्स पे उनके प्रोफाइल हैं । हाल की उन्होंने ट्विटर पे खली 18 ट्वीट किये हैं , उनके twitter ( @SakshiMalik ) पे करीबन 60 हज़ार followers है । यह उनके राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्टार पर बड़ते लेकप्रियता को दर्शाता है । उनमे से कुछ जाने माने राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय खिलाडी , पत्रकार और हस्तियां भी है ।

हमारे आदरणीय प्रधान मंत्री ने अगले 3 ओलंपिक्स प्रतियोगिता के लिए एक स्पेशल टास्क फाॅर्स बैठाया है जो हमारे खिलाडियों के आवश्कताएँ को देखेगा और इसमें देश और विदेश के विशेषज्ञ शामिल होंगे । ये टास्क फाॅर्स का काम एक व्यापक कार्य योजना बनाना होगा जिससे की हमारा खिलाडी आने वाले ओलंपिक्स में और बेहतर तयारी कर सके । यह इस बात का सबूत है की इन महिलाओं ने भारत को मैडल दिल कर पुरे विश्व का ध्यान आकर्षित किया है । हम ये ही उम्मीद करेंगे की आने वाले ओलंपिक्स में भारत और भी बेहतर प्रदर्शन करे ॥

About Sakshi Malik Job

साक्षी मलिक भारतीय रेलवेज के व्यावसायिक विभाग, दिल्ही विभाजन में कार्यरत है जो की उत्तरी रेलवे क्षेत्र में आता है । वे जसडब्ल्यू स्पोर्ट्स एक्सीलेंस प्रोग्राम से भी जुडी है

Request:
आपको यह Sakshi Malik wiki in Hindi तथा Sakshi Malik Biography in Hindi की याग जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट्स करके बताइए और Facebook page like करके सपोर्ट सकते है.

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *