Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

Motivational Story in Hindi – True Friendship सच्ची दोस्ती

आज आपके लिए Motivational Story in Hindi – True Friendship सच्ची दोस्ती की हिंदी कहानी पब्लिश कर रहे है.

सच्ची दोस्ती – Inspirational & Motivational Story in Hindi

एक दो हमशक्ल दोस्त थे प्रेम और मंगल. प्रेम पुलिस वाला था और मंगल डाकू था. पुलिस वाले और डाकू में गहरी दोस्ती थी. जो डाकू था वो सभी डाकुओं से ब्बिल्कुल्ल अलग था. वो उन लोगो को पकड़ता था जो दुसरे पे जुल्म्म करते थे. वह उन मुजरिमों को पकड़कर प्रेम को सौप देता था पर लोगो को लगता था की मुजरिमों को प्रेम पकड़ता था.

एक बार मंगल ने डाकुओं के सरदार को पकड़कर जेल में बंद करा दिया .और डाकुवों को लाहा की यह सब प्रेम ने किया है. इसलिए उन डाकुओं ने बदला लेने के लिए प्रेम कोमार डाला. जब मंगल को यह बात पता चली तो उसे बहुत दुःख हुवा. उसे लगता था की प्रेम की मौत का जिम्मेदार वो खुद है.

उसने उसी वक्त प्रतिज्ञा ली की अपने दोस्त प्रेम की मौत का बदला जरूर लेगा. वह उन सब लोगो को एक एक करके ख़त्म कर देगा जो प्रेम की मौत के लिए जिम्म्मेदार है. कुछ समय बाद वह उन सब लोगो को मारने के लिए उनके इलाके में घुस गया जहा मंगल अकेला था और उसे मारने के लिए कम से कम 100 लोग थे . वो 100 लोग मंगल पर भरी पड गए. और उन सब ने मिलकर बेचारे मंगल को भी मार डाला.

पढ़िए अन्य Inspirational Stories in Hindi:
Hindi story for students
Hindi Kahani
Story for Kids in Hindi

भगवन से मुलाक़ात

जब वह मरने के बाद भगवान से से मिला तो उसने भगवान् से कहा की आप मुझे ऐसी शक्ति दो जिससे मै नया शरीर धारण करके भी न तो उन लोगो को भूलूं जिन्होंने मिलकर प्रेम और मुझे मारा है और ना तो अपनी प्रतिज्ञा को भूलूं .
उसकी दोस्ती देखकर भगवन ने वही किया जैसा की मंगल ने कहा था. और फिर मंगल का दूसरा जन्म हुवा तो उसने देखा की उन डाकुओं का आतंक पुरे गाँव को सहना पद रहा है. यह देखकर उसके मन में जजों आग भड़क रही थी उसे और हवा मिल गई. उसने यह सोच लिया था जब तक वह उन डाकुओं को नहीं मार डालेगा जब तक चैन से नहीं बैठेगा.

मंगल ने नया शरीर धारण कर रखा था इसका फायदा उठाने के लिए उसने एक साजिश रची. वह उन डाकुओं की फौज में चला गया और अन्दर ही अन्दर सारे हथियार असली से नकली में बदल दिए और गाँव वालों की मदद से उसने अपनी एक सेना तैयार की और फिर एक दिन उसने मौका देखकर डाकुओं पे हमला बोल दिया और उसके गाँव के लोग भी हथियार लेकर वह पहुच गए और डाकुओ को खत्म कर दिया. इस तरह मंगल की जीत हुयी.
ये भी पढ़े Moral stories in Hindiप्रेरणादायक हिंदी कहानिया :
Hindi Kahani with moral
Hindi Moral Story
Kahaniya in hindi for children

Moral of Motivational story in Hindi हिंदी कहानी से सीख:

हमें हमेशा सच्चे दोस्त पर भरोसा करना चाहिए जो हमारे सुख दुःख में साथ दे.

दोस्तों यह motivational Story in hindi – true friendship कैसी लगी हमें कमेंट द्वारा बताइए और इस तरह की प्रेरणादायक कहानिया पढने या Inspirational Stories in Hindi पढने के लिए subscribe & share kare.

Raj Dixit

दोस्तों मै Hindi-Quotes.in का admin हूँ अगर आपको यह ब्लॉग पसंद आया हो तो फेसबुक पेज LIKE करे और आप comments भी करें. आपका feedback हमारे लिए बहुत आवश्यक है. Thanks Raj Dixit G+: https://goo.gl/bco7ez

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *